Friday, 20 June 2014

Religious disputes & discrimination.

धर्म धर्म में होवे लड़ाई,
फिर क्यों कहते हो भाई-भाई,
न जाने कितनो का खून बहाई,
फिर भी तुमको अकल न आई।

इंशानियत का धर्म बड़ा,
फिर अपने धर्म पर क्योंअड़ा।
मैं हु हिन्दू,मुस्लिम,सिख,इसाई,
अब बता मेरा धर्म किसने बनाई।